नई दिल्ली : गो रक्षा के नाम पर एक और मुसलिम शख़्स को पीटे जाने की घटना हुई है, यह घटना जम्मू के रियासी जिले के गरी गब्बर गांव में हुई है, शख़्स को बुरी तरह पीटे जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, वीडियो में दिख रहा है कि मोहम्मद असगर नाम के युवक को गो रक्षकों की भीड़ बुरी तरह पीटती है और जब तक वह बेसुध हो चुका होता है, तब एक पुलिसकर्मी वहां पहुंचता है, असगर को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उसे गंभीर चोटें आई हैं, गुर्जर समुदाय से ताल्लुक रखने वाले असगर चरवाहे का काम करते हैं.

यह घटना इसलिए हुई क्योंकि असगर के बेटे ने उनके खेत में घुसी कुछ गायों को भगा दिया था, ये गायें उनकी फसल को खा रही थीं, भगाने के दौरान एक गाय को चोट लग गई थी, इस पर गांव के लोगों और मुखिया ने बैठक बुलाई और असगर और उसके बेटे से बैठक में आने के लिए कहा,  गुर्जर समुदाय के मलिक अब्बास ने न्यूज़ 18 को बताया कि जब अगसर और उसका बेटा जावीद बैठक में पहुंचे तो गो रक्षकों ने उन पर हमला कर दिया, असगर के भाई मुश्ताक अहमद ने कहा कि 60 से ज़्यादा लोगों ने हमला किया.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

रियासी जिले के पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस ने पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत मुक़दमा दर्ज किया है, उन्होंने कहा कि किसी ने जानबूझकर गाय पर तेज़ धारदार हथियार से हमला किया था, असगर के 16 साल के बेटे को इस मुक़दमे का सामना करना पड़ेगा, इसके अलावा पुलिस ने दो और मुक़दमे दर्ज किए हैं और कई अभियुक्तों को पकड़ लिया है.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि गो रक्षकों के ख़िलाफ़ भी मुक़दमा दर्ज किया गया है, इससे पहले भी गो रक्षकों ने अप्रैल, 2017 में इस इलाक़े में गुर्जर समुदाय के लोगों पर हमला कर दिया था, गो रक्षकों ने 70 साल के व्यक्ति और उनके परिवार को पीटा था और उनके टिन शेड में तोड़फोड़ की थी, गो रक्षकों ने उन पर जानवरों की तस्करी का आरोप लगाकर खूब हंगामा काटा था, जम्मू में गुर्जर समुदाय परंपरागत रूप से जानवरों को पालने और इनके दूध का काम करता है,  गो रक्षा के नाम पर इस तरह की गुंडई की ख़बरें अब आम हो गई हैं, कुछ दिन पहले ही दिल्ली से सटे गुड़गांव में गो रक्षकों ने हैवानियत का नंगा नाच दिखाया था.

रिपोर्ट सोर्स, पीटीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here