नई दिल्ली : अरुणाचल प्रदेश में चीन के सौ घरों का गांव बनाने की खबरों के बाद से विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है, पीएम मोदी के नेतृत्व पर सावल उठ रहे हैं.

असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम मोदी को कमजोर पीएम बताया है, ओवैसी ने कहा कि पीएम  मोदी चीन का नाम लेने से डरते हैं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ओवैसी ने कहा सैटेलाइट इमेज से पता चला है कि चीन ने अरुणाचल में परमानेंट कंस्ट्रक्शन कर लिया है, पीएम कमजोरी दिखा रहे हैं.

पीएम चीन का नाम क्यों नहीं लेते? पीएम मोदी चीन का नाम लेने से डरते हैं, मोदी कमजोर पीएम है क्योंकि उन्हीं की पार्टी का एमपी कहता है कि चीन ने अरुणाचल की जमीन पर कब्जा कर लिया है.

राहुल गांधी ने अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती इलाके में चीन द्वारा गांव बसाने के दावे वाली खबरों को लेकर पीएम पर निशाना साधा, उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया.

उनका वादा याद करिए- मैं देश झुकने नहीं दूंगा, रणदीप सुरजेवाला ने सवाल किया मोदी जी, वो ”56 इंच” का सीना कहां है ?

पी चिदंबरम ने भी सोमवार को इस मामले पर सरकार से जवाब मांगा था. एक साल के भीतर अरुणाचल प्रदेश में एलएसी के साढ़े चार किलोमीटर के भीतर सौ घरों का एक गांव बना लिया है.

एक अंग्रेजी चैनल ने इसे लेकर सैटलाइट तस्वीरें भी प्रकाशित की हैं, इसमें एक तस्वीर अगस्त 2019 है और दूसरी तस्वीर नवंबर 2020 की है.

पहली तस्वीर में साफ नजर आ रहा है कि एक जगह पूरी तरह खाल है, जबकि नवंबर 2020 की तस्वीर में उस जगह पर कुछ ढांचे बने नजर आ रहे हैं, जिन्हें चीन का बसाया गांव बताया जा रहा है.

दावे के मुताबिक चीन ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबानसिरी जिले में इस गांव का निर्माण किया है, एलएसी से सटा यह इलाका भारत और चीन के बीच लंबे समय से विवाद का विषय बना हुआ है.

इन खबरों पर सतर्कता पूर्वक प्रतिक्रिया देते हुए भारत ने कहा कि वह देश की सुरक्षा पर असर डालने वाले समस्त घटनाक्रमों पर लगातार नजर रखता है और अपनी संप्रभुता एवं क्षेत्रीय अखंडता की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाता है.

विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ने अपने नागरिकों की आजीविका को उन्नत बनाने के लिए सड़कों और पुलों समेत सीमा पर अवसरंचना के निर्माण को तेज कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here