नई दिल्ली : गुजरात में शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के रोड शो में भारी जन सैलाब उमड़ पड़ा। ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुजरात में नई राजनीति की शुरूआत करने के लिए वहां की जनता का धन्यवाद किया।

उन्होंने कहा, भाजपा ने 25 साल में जो काम नहीं किया, वो हमने 5 साल में कर दिखाया। आप हमें गुजराज में 5 साल दीजिए, आप भाजपा के 25 साल भूल जाएंगे। नगर निगम के नतीजे और रोड शो में उमड़े जनसैलाब को देख कर मुझे लगता है कि आने वाले समय में गुजरात के अंदर कुछ अदभुत होने वाला है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सिर्फ गुजरात में ही नहीं, बल्कि पूरे देश में आम आदमी पार्टी की जीत की चर्चा हो रही है। गुजरात के लोग यह संदेश देना चाहते हैं कि वे अब इन दोनों बड़ी पार्टियों भाजपा और कांग्रेस से तंग आ चुके हैं। एक पार्टी तुष्टिकरण की राजनीति करती है और दूसरी पार्टी नफरत की राजनीति करती है।

आम आदमी पार्टी को राजनीति करने नहीं आती, हमें केवल काम करने आता है। हमने दिल्ली में स्कूल-कॉलेज, अस्पताल बनवाए और लाखों लोगों को नौकरियां दीं। इससे पहले, उन्होंने नगर निगम में जीत दर्ज करने वाले ‘आप’ पार्षदों और कार्यकर्ताओं को संबोधित कर जीत के लिए उन्हें बधाई दी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात के लोगों ने इस बार कमाल कर दिया है, सूरत के लोगों ने तो और ज्यादा कमाल कर दिया। पूरे गुजरात में ही नहीं, बल्कि पूरे देश में आम आदमी पार्टी की जीत की चर्चा हो रही है।

पूरे देश में लोग कह रहे हैं कि यह सूरत में क्या हो गया? सूरत के लोगों ने तो चमत्कार कर दिया। आज मैं आप लोगों का दिल से आभार व्यक्त करने के लिए आया हूं। आप लोगों ने जो आम आदमी पार्टी पर इतना बड़ा विश्वास किया, इतना समर्थन किया, मैं तहे दिल से आज गुजरात के लोगों का धन्यवाद करने के लिए आया हूं।

मैं सूरत के लोगों के का धन्यवाद करने के लिए आया हूं। मैं आपको पूरा यकीन दिलाता हूं कि आपने आम आदमी पार्टी के जिन लोगों को चुनकर भेजा है, आप लोगों ने जो विश्वास किया है, हमारा एक-एक पार्षद खरा उतरोगा और पूरी जिम्मेदारी के साथ आपके विश्वास को पूरा करेगा।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज आप लोगों ने मुझे बहुत प्यार दिया। जहां से मेरा रोड शो शुरू हुआ, हर जगह सड़क पर भारी संख्या में लोग मौजूद थे। आज मुझे इतना प्यार मिला कि मेरी आंखों में आंसू आ गए।

आम आदमी पार्टी की नगर निगम चुनाव में 27 सीट आई है। गुजरात के लोग एक संदेश देना चाहते हैं कि वे लोग इन दोनों बड़ी-बड़ी पार्टियों से तंग आ चुके हैं। गुजरात के लोग कहना चाहते हैं कि इन दोनों पार्टियों की राजनीति को हम खत्म करना चाहते हैं। इसमें से एक पार्टी है, जो तुष्टिकरण की राजनीति करती है और दूसरी पार्टी है, जो नफरत की राजनीति करती है।

जनता कहती है कि हमें राजनीति नहीं चाहिए, हमें नौकरी चाहिए, हमें रोजगार चाहिए। जनता कहती है कि हमें स्कूल चाहिए, हमें कॉलेज चाहिए, हमें अस्पताल चाहिए, हमें टाॅयलेट चाहिए, हमें विकास चाहिए। गुजरात की जनता कह रही है कि राजनीति तुम अपने घर रखो, हमें तुम्हारी राजनीति नहीं चाहिए।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी को राजनीति करने नहीं आती है। हमें केवल काम करने आता है। हमने केवल स्कूल बनाने आते हैं। हमने दिल्ली में स्कूल बनाए हैं। हमने कॉलेज बनाने आते हैं, हमने दिल्ली में कॉलेज बनाए हैं। हमें नौकरी देने आती है। हमने दिल्ली में पिछले 5 साल में 10 लाख बच्चों को नौकरी दी है।

हमें राजनीति करने नहीं आती, हमें केवल और केवल काम करने आता है। गुजरात में 25 साल से भाजपा की सरकार है, लेकिन आज हमारे गुजरात के बच्चे भाजपा की सरकार से पूछना चाहते हैं कि तुमने 25 सालों में कितने बच्चों को नौकरी दी। आज गुजरात के लोग पूछना चाहते हैं कि 25 साल राज करने के बाद गुजरात में पूरे देश में सबसे महंगी बिजली गुजरात में क्यों है?

भाजपा को अपना प्यार देने में गुजरात के लोगों ने कोई कमी नहीं छोड़ी है। भाजपा को 25 साल राज करने का मौका दिया, लेकिन आज गुजरात के गांवों में 8 घंटे बिजली मिलती है। मेरे पास कई किसान गुजरात से आते हैं और कहते हैं कि उन्हें सिर्फ 8 घंटे बिजली मिलती है। बिजली रात में आती है और किसान को रात में जाग कर खेत की सिंचाई करते हैं।

25 सालों में भाजपा अपने किसानों को बिजली भी नहीं दे पाई, ऐसी सरकार को लानत है। आज लोग पूछना चाहते हैं कि 25 साल के बाद गुजरात के गांव में किसान आत्महत्या क्यों कर रहे हैं? आज पूछना चाहते हैं कि 25 साल के बाद गुजरात में सरकारी स्कूलों की हालत खराब क्यों है?

सरकार अस्पतालों में इलाज क्यों नहीं होता है, सरकारी अस्पतालों की हालत खराब क्यों है। भाजपा ने जो काम 25 साल में नहीं किया, हमने दिल्ली में पांच साल में करके दिखा दिया।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में जब हमारी सरकार बनी, तब 10-10 घंटे पाॅवर कट लगा करते थे। केवल पांच साल में आज दिल्ली में सबको 24 घंटे बिजली मिलती है और फ्री बिजली मिलती है। यह दुनिया का आठवां चमत्कार है। दिल्ली में 75 प्रतिशत जनता को फ्री में बिजली मिलती है और उनके बिजली के बिल नहीं आते हैं।

मैं भाजपा से पूछना चाहता हूं कि अगर पांच साल में दिल्ली में केजरीवाल फ्री में बिजली दे सकता है, तो 25 साल में भाजपा नहीं दे सकती है क्या? जब दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी, तब सरकारी स्कूलों की बहुत बुरी हालत थी। सरकारी स्कूल खंडहर पड़े थे। कोई भी अपने बच्चे को सरकारी स्कूल में नहीं भेजना चाहता था।

आज दिल्ली के सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से ज्यादा अच्छे हो गए हैं। लोग अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों से निकाल कर सरकारी स्कूलों में भेज रहे हैं। इस साल हमारे दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 98 प्रतिशत नतीजे आए।

आज दिल्ली में गरीबों और अमीरों दोनों के बच्चों का अच्छी शिक्षा मिल रही है। गुजरात में भी ऐसा होना चाहिए या नहीं? अगर केजरीवाल 5 साल में दिल्ली में कर सकते हैं, तो भाजपा वाले 25 साल में नहीं कर सकते थे। वे भी कर सकते थे, लेकिन उनकी नीयत खराब है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, आज गुजरात का बच्चा 12वीं करने के बाद कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए धक्के खाता है। कॉलेज में एडमिशन मिल जाए, उसे डिग्री मिल जाए, तो उसके बाद वह नौकरी लेने के लिए धक्के खाता है।

25 साल में बीजेपी ने बच्चों को नौकरी क्यों नहीं दी। जो काम ये 25 साल में नहीं कर पाए, हमने 5 साल के अंदर करके दिखा दिया। गुजरात में हमें आप 5 साल दे दो, आप इनके 25 साल भूल जाएंगे।

शहरों के अंदर जो नगर निगम के चुनाव हुए, आप लोगों ने आम आदमी पार्टी को इतना जबरदस्त वोट दिया। परसों गुजरात के गांव में चुनाव है। मैं गांव के लोगों अपील करना चाहता हूं कि जैसे शहर के लोगों ने भारी समर्थन दिया, परसों भी सारे बटन केवल झाड़ू के दबने चाहिए।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी युवाओं की पार्टी है। अभी हमारे जो 27 लोग देते हैं, यह सारे युवा हैं। यह सारे आप की ही तरह है। आने वाले गुजरात की युवा उम्मीद हैं। मैं आज गुजरात युवाओं का आह्वान करना चाहता हूं कि इनसे नौकरी मांगने का सिलसिला बहुत हो गया।

आपने इनसे बहुत नौकरी मांग ली। अब इनसे नौकरी नहीं मांगेंगे। अब आप सब लोग राजनीति आ जाओ। अब युवा विधानसभा के अंदर जाएंगे और वे खुद अपने आप को नौकरी देंगे। अब गुजरात के युवा गुजरात विधानसभा में जाकर बैठेंगे। अब इनसे नौकरी की भीख नहीं मांगेंगे। यह जो नतीजे आए हैं और आज जिस तरह का जनसैलाब मैंने रोड शो में देखा और यहां भी इतनी भारी संख्या में लोग मौजूद हैं।

मेरा दिल कहता है कि आने वाले समय में गुजरात के अंदर कुछ अद्भुत होने वाला है। कुछ न कुछ तो गुजरात के अंदर अद्भुत होने वाला है। कांग्रेस खत्म हो गई, लेकिन कांग्रेस में कुछ अच्छे नेता भी हैं।

मैरी उनसे अपील है कि आप कांग्रेस को छोड़ कर आम आदमी पार्टी में आ जाइए। और भारतीय जनता पार्टी में जो लोग देशभक्त हैं और गुजरात का भला चाहते हैं, उन सभी से अपील है कि 25 साल में भाजपा ने कुछ नहीं किया। अब आप भाजपा छोड़ कर आम आदमी पार्टी में आ जाइए।

आने वाले समय में आम आदमी पार्टी गुजरात के छह करोड़ जनता के साथ एक नया गुजरात बनाएंगे। जिसमें 24 घंटे बिजली होगी, मुफ्त बिजली होगी। अच्छे सरकारी स्कूल और अस्पताल होंगे। कोई किसान आत्महत्या नहीं करेगा, किसानों को अपनी फसल का पूरा दाम मिलेगा। हर युवा को रोजगार मिलेगा।

अरविंद केजरीवाल ने सूरत नगर निगम में 27 सीटें जीतने पर रोड शो कर वहां की जनता से मुलाकात की और उनका आभार व्यक्त किया। कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच आयोजित रोड शो में जनता का हुजूम उमड़ पड़ा। गुजरात और देश में बदलाव की राजनीति शुरू करने वाले अरविंद केजरीवाल के स्वागत में सड़क के दोनों तरफ भारी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

सड़क पर कई किलोमीटर ‘आप’ समर्थकों की भीड़ देखने को मिली। जैसे-जैसे ‘आप’ संयोजक का काफिला धीरे-धीरे आगे बढ़ता गया, वैसे-वैसे काफिले में लोगों की भीड़ बढ़ती गई। लोगों की भीड़ अपने कैमरे में अरविंद केजरीवाल के रोड शो को कैद करती दिखी। जनता हाथ लहराते हुए अरविंद केजरीवाल का स्वागत और अभिनंदन किया।

केजरीवाल गुजरात के लोगों का आभार व्यक्त करने के लिए आज सुबह नई दिल्ली से सूरत के लिए रवाना हुए। वह सूरत एयरपोर्ट पर सुबह 8.25 बजे पहुंचे। यहां से वह सर्किट हाउस पहुंचे और आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किए।

इसके बाद दोपहर 3.30 बजे मिनी बाजार (मगध बाजार) से उनका रोड शो शुरू हुआ।यह रोड शो करीब 6 किलोमीटर का था, जो कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच विभिन्न मार्गों से होकर गुजरा। रोड शो का समापन तक्षशिला काॅम्प्लेक्स पर हुआ।

24 मई, 2019 को तक्षशिला कॉम्प्लेक्स इमारत की चैथी मंजिल पर स्थित कोचिंग सेंटर में आग लग गई थी। जिसमें 22 बच्चों की जान चली गई थी। अरविंद केजरीवाल ने उन बच्चों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में ‘आप’ कार्यकर्ताओं ने बड़े ही जोश और उत्साह के साथ स्वागत किया। अपने राष्ट्रीय संयोजक के स्वागत में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता सूरत एयरपोर्ट पर पहुंचे और उन्होंने फूल माला पहना कर भव्य स्वागत किया।

एयरपोर्ट से अरविंद केजरीवाल ‘आप’ कार्यालय पहुंचे, जहां सूरत नगर निगम का चुनाव जीतने वाले सभी पार्षदों और पदाधिकारियों से मुलाकात कर उन्हें इस धमाकेदार जीत पर बधाई देते हुए उनका हौसला बढ़ाया।

‘आप’ गुजरात का कहना है कि सूरत की जनता ने गुजरात को नई दिशा देने का काम किया है। पहली बार ही आम आदमी पार्टी को गुजरात के 16 लाख लोगों ने वोट दिया है। जिस तरह से दिल्ली में बदलाव की राजनीति हुई है, उसी तरह से गुजरात में भी बदलाव की शुरूआत हुई है।

इससे पहले, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सूरत में नगर निगम चुनाव जीत कर आए ‘आप’ के पार्षदों, नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उन्हें शानदार प्रदर्शन के लिए बधाई दी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव की हार-जीत लगी रहती है। आप लोगों ने इतनी बड़ी-बड़ी पार्टियों के साथ चुनाव लड़ा, गुजरात में चुनाव लड़ा। सूरत में चुनाव लड़ा, जहां भाजपा का गढ़ माना जाता है और इतनी कठिन परिस्थितियों में बिना संसाधन के आप लोगों ने चुनाव लड़ा, यह आप लोगों की बहुत भारी जीत है।

अच्छी शुरुआत एक बहुत बड़ी चीज होती है और सारी लड़ाइयां एक ही दिन में नहीं जीती जा सकती हैं। हम लोगों ने बहुत अच्छी शुरुआत की है। आप लोगों को इसके लिए बहुत-बहुत बधाई। जो लोग नहीं जीते, उन लोगों को अपने मन में जरा भी दुख लाने की जरूरत नहीं है। आप लोगों ने बहुत शानदार काम किया है।

आपको सिर उठाकर चलने की जरूरत है। जब से नगर निगम चुनाव के नतीजे आए हैं, तब से भाजपा और कांग्रेस वाले बौखलाए हुए हैं। वे लोग थोड़ा थोड़ा डरे हुए हैं। कल भाजपा के एक बड़े नेता का नेता का बयान आया कि सोने की थाली में कील गड़ गई है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमें एक बात समझने की जरूरत है। वे लोग आप से नहीं डरते हैं, वे लोग आम आदमी पार्टी से भी नहीं डरते हैं। वे उन लोगों से डरते हैं, जिन्होंने आपको वोट दिया है। वो उन 16 लाख लोगों से डरते हैं, जिन लोगों ने आपको वोट दिया है।

वह 16 लाख लोगों ने आप पर भरोसा किया है। ये 16 लाख लोग, वे लोग हैं, जो इन पार्टियों की राजनीति से तंग आ गए थे। अभी तक उनके पास विकल्प नहीं था। ऐसा क्यों है कि पिछले 25 साल से भाजपा यहां पर शासन कर रही है?

ऐसा तो नहीं है कि भाजपा का शासन कोई बहुत शानदार शासन है? यहां बहुत सारी समस्याएं हैं, पूरे देश भर में अलग-अलग राज्यों के अंदर कभी कोई पार्टी आती है, कभी कोई पार्टी आती है, लेकिन यहां पर एक ही पार्टी शासन कर रही है। ऐसा क्यों? क्योंकि भाजपा ने दूसरी पार्टी को अपनी जेब में रखा हुआ है।

इसलिए यहां पर एक पार्टी शासन कर रही है। वे अपनी मर्जी की करते हैं, और उनको कहने वाला कोई नहीं मिला। आज जब पहली बार आप लोग उनकी आंखों में आंखों मिलाने वाले मिले, तो जनता ने आप लोगों को सिर आंखों पर ले लिया।

संयोजक ने कहा, आप सभी लोगों की तरफ पूरा गुजरात देख रहा है। जैसे दिल्ली के अंदर पहली बार हमारी 28 सीट आई थी। वो 28 सीट इसलिए थी, क्योंकि लोगों को हमारे ऊपर भरोसा था। लोगों को लगता था कि ये लड़के ईमानदार हैं, ये लोग कट्टर देशभक्त हैं। हम लोग अन्ना आंदोलन से निकले हुए थे।

अन्ना आंदोलन में हम लोगों ने डंडे खाए थे, संघर्ष किए थे, जेल गए थे, वाटर कैनन झेले थे, यातनाएं झेली थी। इसलिए लोगों को लगता था कि ये लड़के अच्छे हैं और सिर्फ उस भरोसे पर जनता ने हम लोगों को 28 सीटें दे दी। भगवान ने हमें 49 दिन का मौका दिया और उन 49 दिनों के अंदर हमने इन पर झाड़ू फेर दिया।

उन 49 दिनों के अंदर बिजली के रेट आधे कर दिए, पानी मुक्त कर दिए और दिल्ली के अंदर रिश्वतखोरी बंद कर दी। हमने उन 49 दिनों में खूब काम किया। जब अगली बार जब चुनाव हुआ, तो लोगों ने हमें 67 सीटें दे दी।

जनता ने वह 49 दिनों में 28 लोगों का काम देखा। अब 27 लोगों का काम गुजरात की छह करोड़ की जनता देख रही है। आज पूरे गुजरात के अंदर ही नहीं, बल्कि पूरे देश के अंदर यह चर्चा है कि सूरत के अंदर यह क्या हो गया?

सारा देश आपकी तरफ देख रहा है और अगर आप 27 लोगों ने अच्छा काम किया, तो 2022 के दिसंबर में गुजरात में गजब की क्रांति आने वाली है। इसलिए आप सभी को अच्छा काम करना है।

आप संयोजक ने कहा, आप 27 लोगों के पास भाजपा वालों का फोन भी आएगा। हमारे पास क्या दौलत है? हमारे पास पैसा नहीं है? हमारे पास संसाधन नहीं है? हमारे पास सिर्फ जनता का भरोसा है। जनता हम पर यकीन करती है।

हम लोग कुछ बोलते हैं, तो जनता यकीन करती है कि ये लोग सच बोलते हैं। अगर हमारी पार्टी से एक भी आदमी टूट कर के भाजपा की तरफ चला गया, तो बीजेपी वाले कहेंगे कि ये लोग भी वैसे ही है, ऐसा ये लोग यह साबित करना चाहते हैं।

अगर आप 27 में से एक आदमी उधर चला गया, तो आप यह सोच लेना कि आप 6 करोड़ लोगों की उम्मीद और आशा को तोड रहे हैं। अगर आप में से कोई एक भी आदमी टूट गया, तो आप पूरी उम्मीद को तोड़ देंगे।

इसलिए आप लोगों को टूटना नहीं है। हो सकता है कि वो लोग कुछ डराने-धमकाने की कोशिश करें, हो सकता है कि कुछ लालच देने की कोशिश करें, कुछ भी हो, अगर उनका पहला फोन आए, तो आप तुरंत अपने प्रदेश अध्यक्ष को बताएंगे।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जनता ने भरोसा करके आपको वोट दिया है। इसलिए आप लोग को 24 घंटे उनकी सेवा में तत्पर रहना है। आप लोगों को रात-दिन 24 घंटे जनता की सेवा में लगे रहना है और जो आपको आनंद जनता की सेवा करने से मिलेगा, वह आनंद आपको और किसी चीज से नहीं मिलेगा।

आप लोगों को यह वोट इसी बात का मिला कि आप लोग जनता के बीच में गए, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि जितने के बाद मन में थोड़ा सा घमंड आ जाता है, आदमी की बॉडी लैंग्वेज भी बदल जाती है। आदमी का दूसरे से डील करने का तरीका बदल जाता है। आप लोग ऐसा मत होने देना। हमें अपने अंदर बार-बार झांक कर देखना पड़ता है कि मुझे घमंड तो नहीं हो गया?

मैं जनता से कैसे बात कर रहा हूं? जनता सब कुछ बर्दाश्त कर सकती है। जनता आपके पास काम लेकर आती है, आप कोशिश करते हैं, लेकिन नहीं हो पाता है, उस पर जनता आपको माफ कर देती है, लेकिन जनता अगर आपके पास आती है और आप उसके साथ दुव्र्यवहार करते हैं, तो वह जनता कभी भी माफ नहीं करती है।

जनता अपमान कभी बर्दाश्त नहीं करती है। आप किसी का भी अपमान मत करना। चाहे वह किसी भी जाति का हो, किसी भी धर्म का हो चाहे, वह अमीर हो, चाहे वह गरीब हो। जो व्यक्ति आपके दफ्तर या आपके घर में आए, उसको बैठाकर के एक कप चाय जरूर पिला देना और उसका सम्मान रखना।

वह आदमी बाहर जाकर बोलेगा कि मैं बीजेपी वालों के घर गया, उसने घुसने नहीं दिया और कुत्ते छोड़ दिए। मैं आम आदमी पार्टी वालों के घर गया, उसने मुझे बैठा कर चाय पिलाई। आजकल राजनीति में इज्जत देना ही बहुत बड़ी बात हो गई है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आप सभी लोगों को अपने वार्ड में अपना एक दफ्तर खोलना है। अगर आपके पास पैसा नहीं हो, तो अपने घर को ही दफ्तर बना लीजिए, जहां लोग आपसे मिल सकें। आप लोग एक ऐसा फोन नंबर ले लीजिए, जिस पर बात हो सके।

उस फोन नंबर को आप अपने पूरे वार्ड में घर-घर बांट दीजिए और उनसे कहिए कि अगर कोई समस्या हो, तो आपको फोन करें। अगर रात को 2 बजे भी कोई आप से मदद मांगने के लिए आए, तो आप उसकी मदद करने के लिए निकल पड़ना।

अगर आपने रात को 2 बजे एक आदमी की मदद कर दी, तो वह पूरी दुनिया के अंदर आपका प्रचार करेगा कि पार्षद हो तो ऐसा हो। जैसा दिल्ली के अंदर वो 28 लोग जब जीते, उसकी वजह से फिर 67 सीट आई और जब 67 सीट आई तो 5 साल तक काम करने के बाद हमारी एंटीन कम्वेंसी नहीं थी।

दूसरी बार जनता ने हमें 62 सीट दी। उस काम के वजह से हम पूरे देश के अंदर प्रचार कर रहे हैं। आप 27 लोगों के काम के बल पर हम पूरे गुजरात में जाकर वोट मांगेंगे। एक बात और, हम 27 हैं और वो 93 हैं, लेकिन नंबर से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

हमारा एक-एक आदमी 10-10 पर भारी पड़ेगा। आपको सूरत की जनता ने विपक्ष की भूमिका दी है। आप सदन के अंदर एक भी गलत काम नहीं होने देना। उनको कोई गलत काम मत करने देना।

पूरे गुजरात की जनता को पता चलना चाहिए कि सूरत के अंदर अब किस किस्म की राजनीति चल पड़ी है। अब भारतीय जनता पार्टी वाले कोई गलत काम नहीं कर पाएंगे, क्योंकि यहां आम आदमी पार्टी का विपक्ष यहां पर आ गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here