गुड्डू त्यागी

कोरेना जैसी महामारी में जहां यूपी का सातवां स्थान था, वहीं पर अब पांचवां स्थान है, लेकिन थाना क्षेत्र भोजपुर के किल्हौड़ा के केनरा बैंक की शाखा ‘सिंडिकेट ब्रांच’ में भेड़ बकरियों की तरह भीड़ देखने को मिली। यहां इस बैंक शाखा में कुल काम करने वाले कर्मचारी सात हैं जिनमें से चार लोग ही यहां आ पा रहे हैं, मैनेजर के कहने पर भी कर्रमचारी बैंक में नहीं आ पा रहे हैं। लोग बैंक कर्मियों की इस हरकत से बहुत ही ज्यादा परेशान हैं, यहां के स्थानीय लोगों और खाताधारकों का कहना है कि बैंक कर्मी बिल्कुल भी काम नहीं करने देते हैं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

लेकिन जनता को कोरोना जैसी घातक बीमारी का भी खौफ़ नहीं है, यह थाना क्षेत्र भोजुुर गांव किल्होड़ा “केनरा बैंक” किल्होड़ा ब्रांच है, जहां पर भेड़ बकरियों की तरह लोगों की भीड़ दिख रही है, बैंक कर्मचारियों ने कानून को ताक पर रखा हुआ है, ना तो यहां सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई दे रही है, ना ही चेहरों पर मास्क लगा रखे हैं, एसा लग रहा है जैसे कि ये लोग कोरोना वायरस को दावत दे रहे हों। इनको सरकार की गाईड लाईन्स का ध्यान है और ना ही पुलिस प्रशासन का ख़ौफ़। यहां पर आये हुए लोगों का कहना है कि इस बैंक में न तो संपूर्ण कर्मचारी हैं और न ही ठीक से काम काज हो पाता है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बैंक मैनेजर जब चाहे बैंक खुलवाता और जब चाहे बंद कराने के आदेश देदेता है। जनता बदहाल है, बहुत ही परेशान है.

ग्रामीणों ने मांग की है कि यहां पर अच्छे होनहार कर्मचारियों की नियुक्ति की जाये। जिससे यहां के खाताधारक अपना काम सफलतापूर्वक करा सकें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here