नई दिल्ली : राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार उनके सत्याग्रह को कुचलने की कोशिश कर रही है, राहुल गांधी ने कहा बापू के दांडी मार्च की परम्परा आज देश के अन्नदाता निभा रहे हैं, किसान विरोधी मोदी सरकार अंग्रेज़ी हुकूमत की तरह सत्याग्रह को कुचलने में लगी है, जीतेगा सत्याग्रह ही, अहंकार नहीं.

बता दें कि किसान संगठन तीन महीने से अधिक समय से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं, आंदोलनकारी तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

राहुल गांधी ने कहा गांधी जी के दांडी मार्च ने पूरी दुनिया को आजादी का एक स्पष्ट संदेश दिया था. उन्होंने यह भी कहा भारत आरएसएस की अगुवाई वाली अधिनायकवादी ताकतों की गिरफ्त में तेजी से जा रहा है.

ऐसे में हमें सामूहिक स्वतंत्रता के प्रति अपनी निजी प्रतिबद्धता को दोहराना चाहिए, चलिए गांधी के उदाहरण से मार्गदर्शन लें और आजादी की तरफ मार्च जारी रखें, जय हिंद.

बता दें कि महात्मा गांधी के नेतृत्व में ‘नमक सत्याग्रह’ की घोषणा करते हुए 78 लोगों ने 12 मार्च 1930 से दांडी यात्रा शुरू की थी.

राहुल गांधी ने कहा कि छात्र नौकरी चाहते हैं, लेकिन सरकार उन्हें पुलिस के डंडे, पानी की बौछार, ‘राष्ट्र विरोधी का टैग’ और बेरोजगारी दे रही है, कांग्रेस ने रोजगार के मुद्दे पर ‘स्टूडेंट्स वांट जॉब्स’ हैशटैग से सोशल मीडिया अभियान चलाया.

इस अभियान के तहत राहुल गांधी कहा कि छात्र नौकरी चाहते हैं, लेकिन सरकार दे रही है-पुलिस के डंडे, वॉटर गन की बौछार, एंटी नेशनल का टैग और बेरोज़गारी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here