नई दिल्ली : तीनों नए कृषि बिलों को लेकर किसानों का प्रदर्शन 39वें दिन भी जारी है, सोमवार को किसान संगठनों और सरकार के बीच बातचीत भी होनी है.

किसानों ने कहा कि अगर बैठक में बात नहीं बनी तो वे आंदोलन को तेज कर देंगे, उधर किसानों के मुद्दे पर विपक्ष भी चौतरफा सरकार पर हमला कर रहा है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

राहुल गांधी ने किसान आंदोलन को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है, राहुल ने रविवार सुबह एक ट्वीट के जरिए सरकार को घेरा.

राहुल ने ट्वीट कर कहा, “देश एक बार फिर चंपारण जैसी त्रासदी झेलने जा रहा है, तब अंग्रेज कम्पनी बहादुर था, अब मोदी-मित्र कम्पनी बहादुर हैं, लेकिन आंदोलन का हर एक किसान-मज़दूर सत्याग्रही है जो अपना अधिकार लेकर ही रहेगा.”

किसानों ने एक बैठक के बाद फैसला किया कि अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी तो 6 जनवरी को कुंडली, मानेसर और पलवल हाईवे पर ट्रैक्टर मार्च होगा, इसके 2-3 दिन के भीतर शाहजहांपुर मोर्चे को आगे लाएंगे.

इसके बाद एक पखवाड़े तक देशभर में अलग-अलग कार्यक्रम के तहत प्रदर्शन करेंगे, 18 जनवरी को महिला किसान दिवस के रूप में मनाएंगे, 23 जनवरी को सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन के मौके पर सभी राज्यों में राजभवनों पर मार्च करेंगे, 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर मार्च करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here