Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत राहत: ग़ाज़ियाबाद जनपद में खुलेंगी सैलून की दुकानें, लगेंगी रेहड़ी पटरी

राहत: ग़ाज़ियाबाद जनपद में खुलेंगी सैलून की दुकानें, लगेंगी रेहड़ी पटरी

शमशाद रज़ा अंसारी

लॉक डाउन लगने के बाद से बन्द पड़ी सैलून की दुकानें तथा रेहड़ी पटरी वालों के लिए मंगलवार को राहत की ख़बर आई। प्रशासन ने यह दुकानें खोलने की अनुमति दे दी है लेकिन इन्हें कार्य के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन करना होगा।अपर जिलाधिकारी नगर शैलेंद्र कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए अवगत कराया कि जनपद में सैलून की दुकान एवं रेहड़ी पटरी वाले पूर्व की भांति अपने कार्य को शुरू कर सकते हैं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्होंने बताया कि सभी को अपना कार्य करते हुए कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करना होगा। सभी दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग सैनिटाइजेशन आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी ताकि वर्तमान परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से जन सामान्य को सुरक्षित रखा जा सके।आपको बता दें कि लॉक डाउन लगने के बाद से ही सैलून की दुकानें तथा रेहड़ी पटरी बन्द थीं। इन जगहों से संक्रमण फैलने की सर्वाधिक सम्भावना के कारण अनलॉक में भी इन्हें खोलने की अनुमति नही मिली थी। लेकिन अब प्रशासन ने सैलून खोलने तथा रेहड़ी पटरी लगाने की अनुमति देकर हज़ारो लोगों को राहत पँहुचाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

जानिए ग़ाज़ियाबाद महापौर आशा शर्मा ने कहाँ किया निर्माण कार्य का उद्घाटन

शमशाद रज़ा अंसारी गुरुवार को पार्षद विनोद कसाना के वार्ड 20 में तुलसी निकेतन पुलिस चौकी से अंत तक...

जानिए क्या रहेगा ग़ाज़ियाबाद में दुकानों के खुलने और बन्द होने का समय

शमशाद रज़ा अंसारी जनपद में कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुये प्रशासन ने सख़्ती शुरू कर...

ग़ाज़ियाबाद: प्रियंका से घबरा गयी है मोदी और योगी सरकार: डॉली शर्मा

शमशाद रज़ा अंसारी सरकार ने कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा से दिल्ली में सरकारी बँगले को खाली करने को...

निजी विद्यालय का रवीश कुमार के नाम ख़त

प्राइवेट स्कूलों और कॉलेजों के शिक्षक परेशान हैं। उनकी सैलरी बंद हो गई। हमने तो अपनी बातों में स्कूलों को भी समझा...

पासवान कहते हैं 2.13 करोड़ प्रवासी मज़दूरों को अनाज दिया, बीजेपी कहती है 8 करोड़- रवीश कुमार

रवीश कुमार  16 मई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा था कि सभी राज्यों ने जो मोटा-मोटी आंकड़े...