Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत करतारपुर गलियारा फिर खुलना PM मोदी की एक और कूटनीतिक की हार...

करतारपुर गलियारा फिर खुलना PM मोदी की एक और कूटनीतिक की हार है?

नई दिल्ली: पाक ने भारत के असहमति के बावजूद करतारपुर गलियारा 104 दिनों के बाद फिर खोल दिया है, 29 जून को पाक के विभिन्न शहरों से करीब 60 श्रद्धालु वहां गए, अलबत्ता भारत की ओर से कोई नहीं गया, कोरोना के मद्देनजर भारत ने पंजाब के गुरदासपुर जिले के बाबा बकाला रास्ते से होकर जाने वाला मार्ग अनिश्चितकाल के लिए बंद किया हुआ है, गलियारा शुरू होने से पहले भारत-पाक के बीच बाकायदा उच्चस्तरीय संधि हुई थी कि आपात स्थितियों में गलियारा बंद करने और पुनः खोलने के लिए दोनों देश सचिव स्तर पर विमर्श-वार्ता करेंगे,

एक-दूसरे को कम से कम सात दिन पहले सूचित किया जाएगा, लेकिन पाक ने इस संधि कि खुली  उल्लंघन करते हुए 27 जून को  एकतरफा घोषणा कर दी कि वह 29 जून को श्री करतारपुर साहिब गलियारा श्रद्धालुओं के लिए खोल देगा, इस पर मोदी सरकार की आपत्ति की न सिर्फ घोर उपेक्षा की बल्कि कोई जवाब तक नहीं दिया, भारत के लिए यह बहुत संवेदनशील मामला है, पाकिस्तान के अपने तौर पर करतारपुर गलियारा खोल देने से भारत-पाक संबंध तो नए मोड़ पर आ ही गए हैं, यह पीएम मोदी की एक और कूटनीतिक हार भी है,                                                  

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव के अवसर पर करतारपुर कॉरिडोर नवंबर 2019 को खोला गया था, याद करना प्रासंगिक होगा कि तब भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों ने क्या कहा था? पीएम मोदी ने जोर देकर कहा था कि गलियारा खुलना जर्मन की दीवार गिरने सरीखी ऐतिहासिक बड़ी घटना है, उन्होंने कहा था कि करतारपुर गलियारा धार्मिक भावनाओं तक सीमित नहीं रहेगा बल्कि भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर संबंधों की पुख्ता बुनियाद भी बनेगा, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी लगभग ऐसा ही कुछ बोले थे, हाल-फिलहाल तक मोदी और अमित शाह सहित समूची भाजपा लीडरशिप श्रेय लेती रही है कि गलियारा मौजूदा केंद्रीय सरकार की पहलकदमी पर खुला और समूची व्यवस्था पर उसकी ‘नियंत्रण नीति’ हावी है, पंजाब भाजपा अपने प्रमुख सहयोगी शिरोमणि अकाली दल को आए दिन जताती रहती है कि मोदी ने करतारपुर कॉरीडोर खुलवाया, लेकिन अब?

पाकिस्तान ने इस मानिंद आनन-फानन में गलियारा खोलकर सब कुछ तार-तार कर दिया है, सोशल मीडिया पर पंजाब, देश और विदेश में रहने वाले कट्टरपंथी सिख संगठनों के कारकून चार दिन में ही जबरदस्त सक्रिय हो गए हैं कि पाकिस्तान ने गलियारा खोलकर अच्छा किया है और भारत को भी अपनी तरफ से रास्ता खोल देना चाहिए, तय नीति के साथ यह सब किया जा रहा है, कोविड-19 के नागवार हालात पाकिस्तान में भारत से भी ज्यादा संगीन हैं, भारत में किसी भी किस्म के धार्मिक समागम और यात्रा पर प्रतिबंध है, ऐसे में अपने तमाम तईं कॉरिडोर खोलकर पाक ने भारत को यकीनन नई दिक्कत के हवाले किया है,           

जगजाहिर है कि लद्दाख में चीन द्वारा भारतीय सैनिकों की वहशियाना हत्या के बाद भारत विरोधी विदेशी ताकतें नए सिरे से लामबंद हो रही हैं, चीन की पाकिस्तान से नजदीकियां दिन-प्रतिदिन और ज्यादा गहरी हो रही हैं, खालिस्तानियों से भी चीन ने अपने रिश्ते बढ़ाएं हैं, पंजाब की अमृतसर और फिरोजपुर सीमा पर रोज नशीले पदार्थों की तगड़ी तस्करी खेप बरामद हो रही है, सीमा सुरक्षा बल और काउंटर इंटेलिजेंस के पास बेशुमार सुबूत हैं कि पाकिस्तान सिख आतंकियों और सीमा के इर्द-गिर्द के स्थानीय छोटे-बड़े तस्करों के साथ-साथ अब पंजाब के गैंगस्टरों को भी जमकर शह दे रहा है, विभिन्न स्रोतों से उन्हें हथियार और पैसा सीमा पार से भेजा जाता है, सूबे में बीते दिनों हुईं कुछ गिरफ्तारियों से यह भी फाश हुआ कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में गड़बड़ी के लिए पंजाब का इस्तेमाल कर रहा है, गिरफ्तार लोगों से हथियार मिले थे, जिनकी सप्लाई कश्मीर में होनी थी,

कुछ पाकिस्तानी सिखों ने कहा है कि भारत श्री करतारपुर साहिब गलियारे की ओर जाने वाला रास्ता खोले, पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के साथ-साथ श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के मुख्य ग्रंथी ने भी बाकायदा बयान जारी करके यह मांग की है, विशेषज्ञ इसे एक ‘कूटनीतिक दबाव’ के तौर पर देखते हैं,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

अमेरिका ने किया WHO से हटने का ऐलान, राष्ट्रपति उम्मीदवार बाइडन ने किया विरोध

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के बीच अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन छोड़ रहा है, वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करने को तैयार नहीं...

WHO ने भी माना- ‘कोरोना का हो सकता है हवा से संक्रमण, मिले हैं सबूत’

नई दिल्ली:  कोरोना वायरस का खतरा दिन प्रतिदिन दुनिया में बढता जा रहा है अब इस वायरस से हवा के ज़रिये भी...

लोक-पत्र संभाग- क्या लोकतंत्र का लोक अपने लोक की समस्या पढ़ना चाहेगा?

रवीश कुमार  1. सर बैंक से कृषि लोन लिया था जिसमे मात्र 7 प्रतिशत का व्याज लिया जाता है...

कांग्रेस ने PM मोदी पर तंज कशते हुए पूछा- ‘सेना अपने ही इलाक़े से क्यों पीछे हट रही है?’

नई दिल्ली: भारत–चीन के बीच सीमा विवाद में कल लद्दाख में चीनी सेना के साथ-साथ भारतीय सेना भी पीछे हटी, इसी मुद्दे...

पंजाब: बेअदबी कांड में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम मुख्य साजिशकर्ता, राजनीतिक दलों में हड़कंप

अमरीक गुरमीत राम रहीम सिंह का नाम अब नए विवाद में सामने आया है, श्री गुरु ग्रंथ साहिब बेअदबी...