नई दिल्ली : पूरे प्रदेश में जननायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती मनाई गई, सत्ताधारी दल और विपक्ष दोनों के नेताओं ने पूर्व सीएम कर्पूरी ठाकुर की 97वें जयंती पर उन्हें नमन किया.

उनकी जयंती मनाने के बाद सोमवार को फिर एक बार उन्हें भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग उठने लगी है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर पूर्व सीएम कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग की है, वहीं, इस काम में हो रही देरी की वजह से नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न देने की हमारी पुरानी मांग है.

लेकिन बिहार से एनडीए के 40 में से 39 सांसद होने के बावजूद डबल इंजन सरकार जननायक को भारत रत्न क्यों नहीं दे रही है? क्या इसलिए कि वो वंचित समूह से संबंध रखते है? सीएम इसके लिए विशेष रूप से पीएम से क्यों नहीं मिलते?

तेजस्वी ने सीएम नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश जी, माना कि बीजेपी के हाथों बंधक होने के बाद आप पटना यूनिवर्सिटी को केंद्रीय विश्वविद्यालय का भी दर्जा नहीं दिला सकते.

लेकिन राजनीति से इतर कर्पूरी जी को भारत रत्न दिलाने के लिए आप हमारी माँग का समर्थन करें, क्या इसके लिए आप हमारे एमपी, एमएलए के साथ राष्ट्रपति के सामने परेड करेंगे?

तेजस्वी का ये ट्वीट करना था कि सीएम नीतीश कुमार ने चंद मिनटों के अंदर उनके ट्वीट के जवाब दिया और यह स्पष्ट कर दिया कि वे चार बार कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने की मांग उठा चुके हैं.

सीएम नीतीश ट्वीट कर कहा कि हमने जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से सम्मानित करने के लिए अपनी अनुशंसा केन्द्र सरकार को पहले ही भेज दी है.

उन्होंने बताया कि इससे पहले भी वर्ष 2007, 2017, 2018 और 2019 में भारत रत्न के लिए इनके नाम की अनुशंसा की गई थी, हमारी ख्वाईश है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से विभूषित किया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here