Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक के विरोध में फूटे स्वर, कार्यकर्ताओं ने दिया...

सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक के विरोध में फूटे स्वर, कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

शमशाद रज़ा अंसारी

ग़ाज़ियाबाद से समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष राशिद मलिक के विरोध में स्वर फूटने लगे हैं। पार्टी के कार्यकर्ता राशिद मलिक की कार्यप्रणाली से नाखुश होकर पार्टी कार्यालय के बाहर ही धरने पर बैठ गये। विरोधी कार्यकर्ताओं ने राशिद मलिक पर कार्यकारिणी के गठन में पुराने कार्यकर्ताओं को अनदेखा करने तथा जातिगत आधार पर भेदभाव का आरोप लगाया है। बाग़ी कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष को हटाने की माँग की है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक ने धरना देने वाले कार्यकर्ताओं पर अनुशानहीनता की कार्यवाई होने की बात कही है। सोमवार 15 जून को सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक ने जिला कार्यकारिणी गठित की थी। जिसमें अधिकतर सदस्य महानगर क्षेत्र के थे। इसी को मुद्दा बना कर सपा कार्यकर्ता शुक्रवार सुबह पार्टी के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गये।

धरने पर बैठे सपा कार्यकर्ता सौदान सिंह ने कहा कि राशिद मलिक ने कार्यकारिणी का गठन करने में पुराने कार्यकर्ताओं की अनदेखी की है। उन्हें सम्मान नही दिया गया। ताहिर खान 22 साल से पार्टी को अपनी सेवाएं दे रहे हैं, रामपाल राजौरा 1994 से पार्टी में हैं। इन्हें कोई सम्मान नही दिया गया। पार्टी में कोई जगह नही दी गयी। राशिद मलिक पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाते हुये सौदान सिंह ने कहा कि ठाकुर, त्यागी और खटीक बिरादरी में से किसी को सदस्य नही बनाया गया। राशिद मलिक ने पार्टी को तोड़ने का काम किया है जोड़ने का नही। सौदान सिंह ने जिलाध्यक्ष को हटाने की मांग करते हुये कहा कि राशिद मलिक को जिलाध्यक्ष पद से हटाना चाहिए। जिलाध्यक्ष देहात क्षेत्र का होना चाहिए,इससे पार्टी को मजबूती मिलेगी। राशिद मलिक ने 51 लोगों की जो कमेटी बनाई है जिसमें 42 लोग महानगर के हैं।

सौदान सिंह ने राशिद मलिक पर बदसलूकी का आरोप लगाते हुये कहा कि इनकी मीटिंग में बात नही करने दी जाती। कोई बोलता है तो उससे कहते हैं “ओए” इधर बैठो तुम। सौदान सिंह ने कहा कि हम सम्मान के लिए राजनीति करते हैं। जिलाध्यक्ष की तानाशाही नही चलेगी।

उधर सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक ने कहा कि मैं पार्टी का कर्मठ एवं जुझारू कार्यकर्ता हूँ। 18 साल से पार्टी को अपनी सेवाएं दे रहा हूँ। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मुझे ज़िम्मेदारी दी है तथा पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं ने मेरा स्वागत किया है। धरना दे रहे लोगों का कोई जनाधार नही है। यह लोग पार्टी संगठन में उपाध्यक्ष/ महासचिव पद चाहते हैं जिसके यह योग्य नही हैं। हमने हाईकामन को अवगत करा दिया है,इनके विरुद्ध अनुशासनहीनता की कार्यवाई की जायेगी। धरने पर बैठने वाले लोगों में कृष्ण कुमार यादव, सौदान सिंह गुर्जर, रामपाल राजौरा और ताहिर हुसैन आदि शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

भुखमरी में यूपी योगीराज में नम्बर एक पर गिना जाने लगा : अखिलेश यादव

लखनऊ (यूपी) : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि बुनियादी मुद्दों से भटकाने में भाजपा सरकार का...

पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी को लेकर सीएम ठाकरे ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, कही ये बड़ी बात

नई दिल्ली : ईंधन की बढ़ती कीमतों पर सीएम ठाकरे कहा कि पहले हम लोग क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली...

जम्मू-कश्मीर : बोले फारूक अब्दुल्ला- कांग्रेस की ओर देख रही जनता, एकजुट और मजबूत हो पार्टी

जम्मू कश्मीर : पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि जनता एक मजबूत कांग्रेस देखना चाहती है, उन्होंने कहा कि कांग्रेस को...

रवीश का लेख : रक्षित सिंह ने इस्तीफ़ा एक चैनल से नहीं गोदी मीडिया के वातावरण से दिया है

ABP न्यूज़ चैनल के रक्षित सिंह के इस्तीफ़े को लेकर कल से लगातार सोच रहा हूं। रक्षित मेरठ में हो रही किसान...