Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत भारतीय किसान यूनियन के प्रयास से क्वारन्टीन का 'चिल्ला' पूरा करके लौटे...

भारतीय किसान यूनियन के प्रयास से क्वारन्टीन का ‘चिल्ला’ पूरा करके लौटे जमाती

शमशाद रजा अंसारी

भारतीय किसान यूनियन (भानू) के मेरठ मण्डल अध्यक्ष के प्रयास से चालीस दिन से ज़्यादा क्वारन्टीन रहे जमाती वापस आ गये हैं। भाकियू ने उत्तर प्रदेश के सीएम तथा पीएम मोदी को पत्र लिख कर जमातियों को घर भेजने की मांग की थी। भानू के पदाधिकारी ने जमातियों को वापस भेजने का प्रयास करने वाले सभी लोगों का आभार व्यक्त किया है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कोरोना वायरस के चलते लगे लॉक डाउन के कारण लगभग पचास दिन पूर्व बंगाल एवं आंध्र प्रदेश से आये जमातियों को खन्द्रावली तथा किठौर के नवनिर्मित अस्पताल में क्वारन्टीन किया गया था। इनकी रिपोर्ट कई बार निगेटिव आने के बाद भी इन्हें घर वापस नही भेजा जा रहा था। जिसके बाद भाकियू(भानू) के मेरठ मण्डल अध्यक्ष अमित प्रधान ने सीएम योगी आदित्यनाथ तथा प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर जमातियों को भेजने की मांग की थी। गुरुवार को सभी को शासनादेश पर क्वारन्टीन सेंटर से भेज दिया गया।

अमित प्रधान ने जनहित में अनुरोध करते हुये पत्र में लिखा था कि कस्बा किठौर, जनपद मेरठ का महाभारत कालीन ऐतिहासिक कस्बा एंव अत्यन्त ही प्रगतिशील तथा दर्जनों गाँवों का केन्द्र बिन्दु व शिक्षा का हब है। वैश्विक महामारी के समय धार्मिक, सांस्कृतिक कार्यक्रम उक्त कस्बे में होने के दरम्यान अन्य प्रदेशों से कुछ लोग आये हुए थे। इसी समय हमारी लोकप्रिय सरकार ने राष्ट्रहित एवं जनहित में लॉक डाउन लागू कर दिया। जिसके परिणाम स्वरूप अन्य राज्यों से आये कुछ लोग लोकडाउन में फंसे रह गये। जिन्हे शासन के निर्देश पर मेरठ जिला प्रशासन ने कस्बा किठौर मेरठ में ही बने हुए चिकित्सा केन्द्र (नहर के पास) एव खन्द्रावली गाँव में बने क्वारन्टीन सेंटर में सभी को क्वारन्टीन करा दिया गया।

उक्त सभी लोगों की शासन/प्रशासन द्वारा कोविड-19 की जाँच अनेक बार की जा चुकी है, जो लगातार निगेटिव आ रही है। मान्यवर आपको विदित है कि ऐतिहासिक कस्बा किठौर में आज तक इस प्राकृतिक आपदा का कोई पॉज़िटिव केस नहीं मिला है। पूरा कस्बा स्वास्थ्य एंव शांत है। धार्मिक सम्मलेन में आये उक्त सभी लोगों को क्वारन्टीन किये जाने वाले निश्चित समय से तीन गुना अधिक समय हो चुका है। अतः आपसे जनहित में अनुरोध है कि उक्त क्वारन्टीन किये गये लोगों को सुरक्षित गृह राज्यों में उनके घर पर पहुँचवाने का कष्ट करें।

अमित प्रधान द्वारा लिखे गये पत्र के बाद जमातियों को क्वारन्टीन सेंटर से भेज दिया गया। जहाँ से उन्हें ग्राम प्रधान खन्द्रावली एवं किठौर नगर पंचायत के सुपुर्द कर दिया गया। जिसके बाद सभी जमाती अपने घर वापस चले गये। भानू के पदाधिकारी डॉक्टर भरत ने हिन्द न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि सभी ऐसे लोगों को उनके घर भिजवा दिया गया है जो काफी समय से क्वारन्टीन थे और उनकी रिपोर्ट भी लगातार नेगेटिव आ रही थी। डॉ भरत ने कहा कि हम शासन प्रशासन और उन सभी के आभारी हैं जिन्होंने इस में हमारा सहयोग किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

डाॅ. जोगिंदर के परिजनों को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी, भविष्य में भी परिवार की हर संभव मदद करेंगे : CM केजरीवाल

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज डाॅ. बाबा साहब अंबेडकर मेडिकल हाॅस्पिटल एंड काॅलेज में एड-हाॅक पर जूनियर रेजिडेंट रहे कोरोना...

गुजरात : पत्रकार कलीम सिद्दीकी को तड़ीपार का नोटिस, देश भर में हो रही है आलोचना, बोले कलीम- ‘नोटिस कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह’

ऩई दिल्ली/अहमदाबाद : 30 जुलाई को पत्रकार कलीम सिद्दीकी अहमदाबाद शहर के एसीपी कार्यालय में उपास्थि हो कर तड़ीपार मामले में अपना...

बिहार: तेज प्रताप यादव ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा, बोले- ‘CM का सारा सिस्टम हो गया फेल, बिहार की जनता बेहाल’

नई दिल्ली/बिहार: बिहार इस समय दो-दो आपदाओं की मार झेल रहा है, कोरोना के साथ ही बाढ़ से त्राहिमाम मचा हुआ है,...

भोपाल : बोले दिग्विजय सिंह- “राम मंदिर का शिलान्यास कर चुके हैं राजीव गांधी”

नई दिल्ली/भोपाल : राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यस के मुहूर्त को लेकर सवाल उठाए हैं, उन्होंने 5...

सहसवान : नगर अध्यक्ष शुएब नक़वी आग़ा ने मनाया रक्षा बंधन पर्व, पेश की गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल

सहसवान/बदायूँ (यूपी) : रक्षाबंधन पर्व की यही विशेषता है कि यह धर्म-मज़हब की बंदिशों से परे गंगा-जमुनी तहज़ीब की नुमाइंदगी करता है,...