Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home विदेश आख़िर भारत के लिए एक अन्तरराष्ट्रीय दरवाज़ा क्यों है ईरान?

आख़िर भारत के लिए एक अन्तरराष्ट्रीय दरवाज़ा क्यों है ईरान?

वहीद यामिनपुरी

वर्ष 1979 के बाद से ईरान के रिवॉल्यूशनरी आर्ट ने बहुत तरक्की की है। ईरान में इस्लामी क्रांति से पूर्व शाह पहलवी और इसके समर्थक देश अमेरिका और सोवियत अथवा वामपंथी विचारधारा की कला का बोलबाला था। इस्लामी क्रांति ने इसमें तीसरा पक्ष जोड़ा। हमारे केन्द्र में आपको ईरानी इस्लामी सभ्यता की नक्काशी, काव्य, साहित्य, मूर्तिकला और अन्य कलाओं के इतिहास की झलक मिलेगी।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ईरानी संस्कृति को माजिद मजीदी जैसे कलाकारों की वजह से सिनेमा से लोगों को जानने का मौक़ा मिला। ईरान के रास्ते में (प्रतिबंधों के माध्यम से) कई मुश्किलें खड़ी की गईं। मगर हमने अरबी, अंग्रेज़ी, स्पेनिश और उर्दू ज़बान के माध्यम से लोगों तक अपनी बात पहुँचाई। आपने हमारे उर्दू टीवी चैनल सहर को देखा होगा। ईरान के सैटेलाइट को भी प्रभावित करके लोगों तक हमारी संस्कृति को पहुँचने से रोका जाता है। आपको बताना चाहता हूँ कि ईरान के न्यूज़ चैनल प्रेस टीवी को जब अमेरिका और ब्रिटेन में लोकप्रियता मिल गई तो इसका प्रसारण बाधित कर दिया गया। आज यह चैनल अफ्रीका में भी नहीं देखा जा सकता। तुर्की में हमारे कार्यक्रमों की काफी लोकप्रियता है। ईरान का सिनेमा और टेलीविजन धारावाहिक काफी लोकप्रिय हैं। हमारे टेलीविज़न के प्रोडक्शन का हम उर्दू में भी तर्जुमा करते हैं।

(सेंटर ऑफ रिवॉल्यूशनरी आर्ट, तेहरान के महानिदेशक वहीद यामिनपुरी की तेहरान में अपने केन्द्र में भारतीय पत्रकारों से बातचीत पर आधारित)

भारत के लिए ईरान एक अन्तरराष्ट्रीय दरवाज़ा है। इसके रास्ते हम ईरान का भी संदेश पहुँचा सकते हैं। हमारे ख़िलाफ़ अमेरिका और इंग्लैंड एक प्रोपेगैंडा चलाते हैं। हम फारसी भाषा की सुरक्षा और प्रचार के लिए कार्य कर रहे हैं। हम भारत के साथ अपने संबंधों को क़ायम रख सकते हैं और भारत को प्यार करते हैं। हमारे प्रधान नेता (सुप्रीम लीडर) अयातल्लाह ख़ामनेई साहब ने उर्दू, फ्रेंच, रूसी और अंग्रेज़ी ज़बान पढ़ने की सलाह दी है। तकनीक के क्षेत्र में ईरान प्रगति कर रहा है और हम अपनी (एंड्राइड) एप्लीकेशन की बदौलत इज़राइल और सऊदी अरब की साज़िश को नाकाम कर देंगे। गूगल ने कई बार हमारी एप्लीकेशन को बंद कर दिया जबकि हम उसकी सार्वजनिक नीति के विरुद्ध कोई कार्य नहीं कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

दिल्ली : विधायक कोटे से बोर्ड सदस्य का चुनाव 25 अगस्त को, पूर्व चेयरमैन अमानतुल्लाह खान का जीतना तय

नई दिल्ली (हिन्द न्यूज़) : लगभग पिछले 5 माह से खाली पड़े दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष पद को जल्द ही चेयरमैन...

6 साल की मासूम बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म को लेकर कांग्रेस का धरना प्रदर्शन, दोषियों को जल्द नहीं पकड़ा तो दोबारा आंदोलन करेंगे...

नई दिल्ली : सोमवार को राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रभारी श्रीमती प्रियंका गांधी और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी...

आँडियो रिकाॅर्डिंग से साफ है, महिला पार्षद के जेठ निशांत पांडे ने अलग-अलग मामलों में बिल्डर समेत तीन लोगों से लाखों रुपये लिए :...

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी ने भाजपा शासित एमसीडी में चल रहे भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा किया है। पार्टी के वरिष्ठ...

लेख : “तहजीब मर जाने की कहानी है अयोध्या” : विवेक कुमार

कहते हैं अयोध्या में राम जन्मे. वहीं खेले कूदे बड़े हुए. बनवास भेजे गए. लौट कर आए तो वहां राज भी किया....

सऊदी अरब से लेबनान के लिए रवाना हुए सहायता विमान, बेरुत हादसे के बाद भेजी मानवीय सहायता

सऊदी अरब (नई दिल्ली) :  सऊदी अरब ने लेबनान की राजधानी बेरुत में हुए धमाके को दुःखद बताते हुए लेबनान की मदद...