नई दिल्ली : इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए सीधे भारत नहीं पहुंचे थे, बल्कि इससे पहले उन्होंने श्रीलंका में दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेली थी, उस टेस्ट सीरीज में उन्होंने एक दोहरा शतक और एक शतक ठोका था.

इसके बाद जब वे भारत आए तो उन्होंने पहले ही टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ दिया, इसी के साथ उन्होंने इंग्लैंड के लिए इतिहास रच दिया है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

जो रूट ने 341 गेंदों पर चेन्नई टेस्ट मैच में अपने करियर का पांचवां दोहरा शतक पूरा किया, इस पारी में उन्होंने 19 चौके और 2 छक्के जड़े, जो रूट इंग्लैंड के पहले ऐसे कप्तान हैं.

जिन्होंने भारतीय सरजमीं पर टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ा है, इतना ही नहीं, वे 100वें टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले दुनिया के इकलौते खिलाड़ी बन गए हैं, उनसे पहले कोई खिलाड़ी ये कमाल नहीं कर सका है.

जो रूट को फैव फोर में गिना जाता है, लेकिन श्रीलंका के बाद भारत में जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाजी की है, वैसी फॉर्म उनकी कभी नहीं रही, फॉर्म में तो वे रहे हैं, लेकिन कभी भी इस तरह की लंबी-लंबी पारियां उन्होंने लगातार नहीं खेली हैं.

श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में उन्होंने 228 रन बनाए थे, जबकि दूसरे मैच की पहली पारी में वे दोहरा शतक लगा सकते थे, लेकिन 186 रन पर आउट हो गए.

इसके बाद जब वे भारत आए तो उन्होंने पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में ही दोहरा शतक लगाकर साबित कर दिया कि ये टेस्ट सीरीज भारत के लिए आसान नहीं होने वाली.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here