शमशाद रज़ा अंसारी

कोरोना वायरस के डर से उबरने का प्रयास कर रहे जनपदवासी बदमाशों के बुलन्द हौंसलों से दहशत में आ गये हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद से बदमाश लगातार स्नैचिंग, लूट, डकैती, अपहरण और हत्या जैसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। एसएसपी ग़ाज़ियाबाद द्वारा निरन्तर किये जा रहे तबादले भी अपराधों को रोकने में विफल हो रहे हैं। जनपद की क़ानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी है। रामराज का दावा करने वाली बीजेपी सरकार में अब जनपद ग़ाज़ियाबाद राम भरोसे रह गया है। ऐसा प्रतीत होता है कि स्थानांतरण, निलंबन और लाइन से घबराई पुलिस केवल शमन शुल्क की खानापूर्ती के लिए ही सड़क पर उतर रही है। बदमाशों से ज़्यादा पुलिस खौफ़ के साये में काम कर रही है। पुलिस के इसी खौफ़ का फ़ायदा उठाते हुये बदमाश लगातार आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। चन्द रोज़ पहले ही सिहानी गेट थाना क्षेत्र में ज्वैलर्स की दुकान में लूट के प्रयास की वारदात दुकानदार ने बदमाशों का मुक़ाबला करके विफल कर दी थी।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पुलिस इस घटना के टलने के बाद भी सक्रिय नही हुई। पुलिस की इस निष्क्रियता का लाभ उठाते हुये बदमाशों ने थाना इंदिरापुरम क्षेत्र में मंगलवार को ज्वैलर्स की दुकान में दिन दहाड़े लाखों की लूट की वारदात को अंजाम दे दिया। दिन दहाड़े हुई लूट से क्षेत्र में सनसनी और दहशत फ़ैल गयी। एसपी सिटी अभिषेक वर्मा ने बताया कि न्यायखण्ड-3 617 में दुर्गा ज्वैलर्स की दुकान है। मंगलवार को तीन-चार अज्ञात बदमाश ग्राहक की वेशभूषा में दुकान के अंदर घुसे और दुकानदार को डरा धमका कर 150 ग्राम सोना और कुछ किलो चांदी ले गये। बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी गयी है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ़्तार कर लिया जायेगा।

दुकान मालिक अभिलाष वर्मा ने वारदात की जानकारी देते हुये बताया कि मैं दुकान में अकेला बैठा था। तभी एक व्यक्ति ग्राहक बन कर आया और उसने तरह-तरह के आइटम दिखाने को माँगे। मैं उसे बाली वग़ैरह दिखा ही रहा था तभी दो-तीन व्यक्ति अंदर दाखिल हुये। उन्होंने मुझे हथियार दिखा कर धमकाते हुये नीचे गिरा दिया। इसके बाद वह दुकान और अलमारी में रखी सोने-चांदी की ज्वैलरी बैग में भर कर ले गये। बदमाश करीब 150 ग्राम सोना और सात-आठ किलो चाँदी ले गये हैं। जिनकी कीमत करीब दस-बारह लाख रूपये है। दुकानदार ने बताया कि आपसी बातचीत में बदमाशों की बोली राजस्थानी लग रही थी। घटना को बताते समय दुकानदार की आँखों से गिरते आँसू जनपद की गिरती क़ानून व्यवस्था और जनपद पुलिस की नाकामी का रोना भी रो रहे थे।

हालाँकि एसपी सिटी ने हमेशा की तरह बदमाशों को जल्द पकड़ने का दावा किया है। लेकिन जनता अब ऐसे दावों पर भरोसा करने को तैयार नही है। क्योंकि ऐसे ही वादे विक्रम त्यागी के अपहरण से लेकर कौशाम्बी में एटीएम लूट तक की वारदात में किये जा चुके हैं। परन्तु अभी तक पुलिस किसी भी वारदात का खुलासा करने में विफल रही है। पुलिस की इस विफलता से जनपदवासियों में डर व्याप्त है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here