लखनऊः उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बीते रोज़ 22 फरवरी को बजट पेश किया। इस बजट को पीस पार्टी ने जुमला बजट करार दिया है। पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्त इंजीनियर शादाब चौहान ने तंज करते हुए कहा कि योगी सरकार ने जनता को गुमराह करने वाला बजट पेश किया है। उन्होंने कहा कि इस पेपरलैस बजट में जनता के हितों को ही लैस कर दिया गया।  

पीस पार्टी प्रवक्ता इंजीयिन शादाब चौहान एक बयान जारी करके कहा कि उत्तर प्रदेश का बजट जुमला बजट से ज्यादा कुछ भी नहीं है, इस बजट में जनता को गुमराह करने का षड़यंत्र रचा गया है। उन्होंने कहा कि यह जनता को षड़यंत्र के जाल में फंसाने वाला बजट है, यह सिर्फ काग़ज़ों में है जिस प्रकार इस सरकार द्वारा पूर्व में पेश किये गये बजट में जनता के हितों को नज़रअंदाज़ किया गया था, उसी प्रकार इस बजट में भी ऐसा ही हुआ है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्होंने कहा कि अव्वल तो इस बजट में आम आदमी के लिये कुछ नहीं है ऊपर से तुर्रा यह कि मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि हमने पेपरलैस बजट बनाया है, लेकिन उत्तर प्रदेश की जनता, मजदूर, किसान, बुनकर व्यापारी पेपरलैस बजट नहीं बल्कि भाजपा लैस राज्य चाहते हैं। उन्होंने सवाल किया कि सरकार किसानों की बात करती है, लेकिन तीन वर्षों में गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ा है। सरकार अल्पसंख्यकों के उत्थान का दावा करती है लेकिन इस बजट में उनके लिये भी कोई खास नहीं है।

शादाब ने सवाल किया कि किसान को गन्ने का भुगतान के लिये अलग से बजट क्यों नहीं पेश किया जाता। उन्होंने कहा कि यह बजट पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने वाला बजट है। इस बजट में छोटे व्यापारियों और लघु उद्योग करने वाले वर्ग को नज़रअंदाज़ किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here