Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत लॉकडाउन 4.0: कितना अलग होगा यह पहले से?

लॉकडाउन 4.0: कितना अलग होगा यह पहले से?

नई दिल्ली: लॉकडाउन 4.0 की शुरुआत 18 मई से होगी, लेकिन यह अब तक के लॉकडाउन से अलग होगा, इसमें कई तरह की छूटें दी जाएंगी, कई तरह की नई शुरुआत होगी और यह पहले के लॉकडाउन से अलग और आसान होगा, पीएम मोदी ने सबसे पहले 25 मार्च से शुरू होने वाले लॉकडाउन का एलान उसके महज 4 घंटे पहले किया, यह 15 अप्रैल को ख़त्म होता, उसके पहले ही इसे 4 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया, इसके बाद इसे एक बार और बढ़ाया गया और इसे 17 मई तक कर दिया गया, समझा जाता है कि 18 मई से नए दिशा निर्देश लागू होंगे, यानी लॉकडाउन रहेगा, पर नए रूप में

लॉकडाउन 4.0 कैसे अलग होगा?

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पूरे देश में स्कूल-कॉलेज, मॉल-सिनेमा हॉल बंद रहेंगे, पर सैलून, नाई की दुकान और चश्मे की दुकानें खुल जाएंगी,

स्थानीय ट्रेन, बस और मेट्रो सेवाएं रेड ज़ोन और नॉन कंटेनमेंट एरिया के अलावा दूसरी जगहों पर सीमित क्षमता में चल सकेंगी,

रेल और घरेलू उड़ानें सीमति रूप से चल सकेंगी, लेकिन यह चरणबद्ध तरीके से होगा,

रेड ज़ोन के बाहर ऑटो और टैक्सी चल सकेंगे, पर सीमित क्षमता के साथ,

ज़्यादातर सेवाएं नॉन-कंटेनमेंट एरिया में खुलेंगी और इनके खुलने का फ़ैसला राज्य सरकारें करेंगी, रेड ज़ोन और ऑरेंज ज़ोन में बाज़ार खोलने का फ़ैसला राज्य सरकारों को करना है,

ई-कॉमर्स कंपनियों को ग़ैर-ज़रूरी चीजों की आपूर्ति रेड ज़ोन में करने की छूट होगी,

ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन में इसकी अनुमति अभी से ही है,

अभी तक मिली हुई छूटें

स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन, एक्सपोर्ट ओरियेंटेंड यूनिट्स और इंडस्ट्रियल टाउनशिप में कामकाज,

चार-पहिया वाहनों में अधिकतम दो लोगों के आने-जाने की छूट,

शहरी क्षेत्रों में निर्माण कार्य सिर्फ़ उन्हीं जगहों पर जहां मजदूरों को साइट पर ही रहने का इंतजाम किया गया हो,

ग्रामीण क्षेत्रों में औद्योगिक उत्पादन, मनरेगा के तहत कामकाज, खाद्य प्रसंस्करण की ईकाइयाँ और ईंट-भट्ठा का काम,

कृषि से जुड़े कामकाज, पशुपालन, बागवानी वगैह से जुड़े कामकाज,

कृषि से जुड़े कामकाज मसलन, बुआई, कटाई वगैरह,

स्वास्थ्य से जुड़े कामकाज,

वित्तीय संस्थाएं खुली हुई हैं, मसलन, बैंक, वित्तीय कंपनियां, बीमा कंपनियां वगैरह के दफ़्तर खुले हैं, शेयर बाज़ार खुला हुआ है,

दवा, मेडिकल उपकरण समेत हर तरह के आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन की छूट, उनके कच्चे माल और बीच के उत्पाद के लाने-ले जाने पर छूट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

जानिए ग़ाज़ियाबाद महापौर आशा शर्मा ने कहाँ किया निर्माण कार्य का उद्घाटन

शमशाद रज़ा अंसारी गुरुवार को पार्षद विनोद कसाना के वार्ड 20 में तुलसी निकेतन पुलिस चौकी से अंत तक...

जानिए क्या रहेगा ग़ाज़ियाबाद में दुकानों के खुलने और बन्द होने का समय

शमशाद रज़ा अंसारी जनपद में कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुये प्रशासन ने सख़्ती शुरू कर...

ग़ाज़ियाबाद: प्रियंका से घबरा गयी है मोदी और योगी सरकार: डॉली शर्मा

शमशाद रज़ा अंसारी सरकार ने कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा से दिल्ली में सरकारी बँगले को खाली करने को...

निजी विद्यालय का रवीश कुमार के नाम ख़त

प्राइवेट स्कूलों और कॉलेजों के शिक्षक परेशान हैं। उनकी सैलरी बंद हो गई। हमने तो अपनी बातों में स्कूलों को भी समझा...

पासवान कहते हैं 2.13 करोड़ प्रवासी मज़दूरों को अनाज दिया, बीजेपी कहती है 8 करोड़- रवीश कुमार

रवीश कुमार  16 मई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा था कि सभी राज्यों ने जो मोटा-मोटी आंकड़े...