नई दिल्ली : दुर्गेश पाठक ने कहा कि पिछले महीने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एमसीडी के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को सूखा राशन देने की योजना शुरू की। दिल्ली सरकार बिना भेदभाव किए अपने फंड के माध्यम से इन बच्चों को सूखा राशन दिला रही है।

ऐसा लगता है कि भारतीय जनता पार्टी की एमसीडी के मन में चोर आ गया है और वो लोग यह सूखा राशन भी बच्चों को नहीं देना चाहते हैं। नॉर्थ एमसीडी पिछले 8 महीने का सुखा राशन लेकर बैठी हुई है लेकिन वो राशन बच्चों में नहीं बांट रही है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

दुर्गेश पाठक ने आम आदमी पार्टी की ओर से भारतीय जनता पार्टी से यह राशन बच्चों में जल्द से जल्द बांटने की अपील की और कहा यदि 2-4 दिन में राशन बंटवाने का काम शुरू नहीं होता है तो आम आदमी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगी।

दुर्गेश पाठक ने पार्टी मुख्यालय में बुधवार को प्रेस वार्ता को संबोधित किया। दुर्गेश पाठक ने कहा कि आप सबको पता है कि पिछला साल कोरोना की वजह से बहुत ही दुखमय रहा।

हमने एक ऐसा वर्ष देखा, जिसमें समाज के हर व्यक्ति को सामाजिक, आर्थिक, मानसिक आदि किसी ना किसी तरह का नुकसान हुआ। लेकिन इसमें सबसे ज्यादा नुकसान गरीब बच्चों का हुआ, जो कि सरकारी स्कूलों में पढ़ते थे, एमसीडी के स्कूलों में पढ़ते थे।

दिल्ली सरकार द्वारा एमसीडी में पढ़ने वाले बच्चों के लिए सूखे राशन की योजना शुरू की गई। बच्चों के हित में शुरू किए गए इस कदम को लेकर दुर्गेश पाठक ने कहा, पढ़ाई तो गई ही गई, ऑनलाइन की सुविधा हुई लेकिन बहुत सारे लोग इतने गरीब थे कि वे ऑनलाइन कक्षा की सुविधा का वहन करने में समर्थ नहीं थे और खासकर उनकी सेहत के लिए दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश में जो मिड-डे-योजना चलती है,

जिसके तहत स्कूलों में बच्चों को उनकी सेहत से जुड़ी भोजन सामग्री दी जाती है, वो भी उन बच्चों तक नहीं पहुंच पाई। चूंकि सभी स्कूल बंद थे इसलिए दिल्ली सरकार ने इस व्यवस्था को सही करने के लिए सूखा राशन देने की योजना बनाई।

आपने देखा होगा कि पिछले महीने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मुहिम की शुरुआत की। आज दिल्ली के स्कूलों में जितने भी बच्चे पढ़ रहे हैं, आज उनको मिड-डे-मील के रूप में सूखा राशन दिया जा रहा है।

दिल्ली सरकार ने बिना भेदभाव किए दिल्ली के नगर निगम स्कूलों में पढ़ने वाले लाखों बच्चों के लिए यह व्यवस्था बनाई कि एमसीडी में पढ़ने वाले बच्चों को भी सूखा राशन दिया जाए।

दुर्गेश पाठक ने बताया, दिल्ली सरकार अपने फंड के माध्यम से इन बच्चों को सुखा राशन दिला रही है लेकिन भारतीय जनता पार्टी की एमसीडी, ऐसा लगता है कि उनके मन में चोर आ गया है और वो लोग यह सूखा राशन भी बच्चों को नहीं देना चाहते हैं।

साउथ और ईस्ट एमसीडी में तो कहीं-कहीं शुरुआत हुई लेकिन नॉर्थ एमसीडी पिछले 8 महीने का सुखा राशन लेकर बैठी हुई है लेकिन वो राशन बच्चों में नहीं बांटा जा रहा है। आप लेंटर पर पैसे चोरी करते हो, बड़ी-बड़ी योजनाओं में पैसे चोरी करते हो,

पूरी दिल्ली को आपने कूड़े का पहाड़ बना दिया, किसी भी गली या चौराहे पर जाओ तो हर तरफ कूड़ा ही कूड़ा नजर आता है और आपके पार्षद भी दिन-प्रतिदिन अमीर होते जा रहे हैं। ये तो बड़ा अमानवीय है कि जो दिल्ली सरकार दे रही है,

ऐसा नहीं है कि आपको खरीदना है जो आप कह दें कि हमारे पास पैसे नहीं हैं, यहां से पैसा नहीं आया, वहां से पैसा नहीं आया। ये जो दिल्ली सरकार ने पैक्ड-फूड के रूप में सूखा राशन दिया हुआ है, आप वो भी बच्चों में बांट नहीं रहे हैं।

ऐसा लगता है कि किसी बड़े उद्योगपति, किसी बड़े ठेकेदार से आपकी सेटिंग हो गई है और अब आप बीच में ही माल उड़ाने के चक्कर में लगे हुए हैं।

दुर्गेश पाठक ने कहा, आम आदमी पार्टी नॉर्थ एमसीडी और दिल्ली कि भारतीय जनता पार्टी से मांग करती है कि मिड-डे-मील के रूप में जो राशन है उसे जल्द से जल्द इन बच्चों में बांट दें। आपके अंदर ज़रा सी भी मानवता बची है तो इतना नीचे मत गीरिए।

इस स्तर पर मत जाइए कि एमसीडी स्कूलों में पढ़ने वाले जो बच्चे हैं, आपको पता है कि कितने गरीब परिवारों के बच्चे एमसीडी स्कूलों में पढ़ते हैं,अगर आप उनका भी राशन खा जाएंगे तो ये ठीक बात नहीं है।

ये बिल्कुल सही नहीं है, थोड़ा भगवान से भी डरिए और कोशिश करिए कि ये सारा राशन जल्द से जल्द बच्चों में बंटवाए।

हमारी नज़र लगातार आप पर बनी हुई है, अगर आप ये राशन बच्चों में नहीं बंटवाते हैं, इसे 2-4 दिन में बंटवाने का काम शुरू नहीं करते हैं तो आम आदमी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ बड़ा आंदोलन शुरू करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here