लखनऊ (यूपी) : सैफई में किसानों के बीच दो दिन होली मनाने के बाद आज जब समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ आए तो सैकड़ो कार्यकर्ता, नगर के संभ्रान्त नागरिक, राजनेता उनसे मिलने पहुंचे।

विभिन्न जनपदों से भी बड़ी तादाद में लोग उनसे मिलने आए थे। इनमें सभी धर्मो को मानने वाले लोग भी थे। अखिलेश यादव जी ने सभी को होली की बधाई दी और उनके सुखद भविष्य की कामना की।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

इस अवसर पर अपने संबोधन में अखिलेश यादव ने कहा कि मंहगाई की मार से इस बार होली पर्व किसी तरह संपन्न हो तो गया लेकिन भाजपा की गलत आर्थिक नीतियों के कारण जनता का मनोबल गिरा हुआ है।

लोगों में हताशा है और जिंदगी दूभर हो गई है। इस पर भी भाजपा का तुर्रा यह है कि राज्य की जनता के इससे अच्छे दिन कभी नही आ सकते।

यादव ने कहा कि भाजपा के कारण राज्य गुंडा, माफियाओं और अपराधियों की गिरफ्त में है। महिलाएं-बच्चियां अपमानित हो रही हैं। लोगो का जानमाल सुरक्षित नहीं रह गया है। सामाजिक सद्भाव को बिगाड़ना भाजपा का एजेंडा है।

 समाज में नफरत फैलाना और जातियों के बीच दूरी पैदा करना भारतीय जनता पार्टी की रणनीति और राजनीति दोनों है। भारतीय समाज में भाईचारा की मजबूती कायम रखने में भाजपा अड़चने पैदा करती है।

अखिलेश यादव ने कहा कि किसानो की हालत दयनीय है। नौजवान बेकारी के शिकार हैं। उनका भविष्य अंधकारमय है। भाजपा अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकती है। भाजपा की जनविरोधी नीतियों से प्रदेश बदहाल होता जा रहा है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि इस मौके पर बड़ी तादाद में एकत्र कार्यकर्ताओं का कहना था कि राज्य की जनता अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बना देखना चाहती है।

अभी से सपा की सरकार बनाने की तैयारी के लिए जन जागरूकता अभियान चलाने में एकजुट होने का उन्होने संकल्प लिया। उनका कहना था कि भाजपा के कुराज से सपा ही मुक्ति दिला सकती है।

भाजपा राज में नोटबंदी, जीएसटी से रोजी-रोजगार खत्म हो गया। जनाक्रोश चरम पर है। लाकडाउन में सरकार की संवेदनहीनता से कितने ही श्रमिकों की मौत हो गयी। आज किसान आंदोलन में भी ढाई सौ से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है।

भाजपा  को इससे कोई नाता रिश्ता नहीं है। भाजपा के झूठे वादो पर अब जनता भरोसा नहीं करेगी। सन्् 2022 के चुनावो में इस बार भाजपाई छलकपट नहीं चलेगा, जनता सावधान है। भाजप की विदाई और समाजवादी सरकार का बनना तय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here