नई दिल्ली : अमेरिका की निर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने इस बात को माना है कि 20 जनवरी को जो बाइडेन के अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनने के बाद उनकी सरकार के सामने कई चुनौतियां होंगी और राष्ट्रपति बनने के बाद का सफर आसान नहीं होगा.

कमला हैरिस ने रिपोर्टरों से संवाद करते हुए कहा कि बुधवार को हम शपथ लेने जा रहे हैं ये जानते हुए कि हम देश के लिए कार्य कर सकते हैं, हमारे सामने कई कार्य हैं जिसे हमको पूरा करना होगा और ये सभी कार्यों को पूरा करना आसान नहीं होगा,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कमला हैरिस ने कहा राष्ट्रपति जो ने वैक्सीनेशन के लिए प्लान बनाया है, कोरोना के बाद रिकवरी के लिए प्लान बनाया है और लोगों को राहत देने के लिए प्लान बनाया है.

हमें काफी काम करना है, लोग कहते हैं कि हमारा लक्ष्य बहुत महत्त्वाकांक्षी है मगर हमें यकीन है कि जनता और कांग्रेस के सदस्यों की मदद से हम इस लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं.

ये पूछे जाने पर कि क्या वो शपथग्रहण समारोह में शामिल होने में सुरक्षित महसूस कर रही हैं तो कमला हैरिस ने कहा मैं अगली उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथग्रहण करने की राह देख रही हूं और मैं अपना सिर गर्व से ऊंचा कर के वहां चलूंगी.

कमला अपने पति के साथ एनाकॉस्टिया में नेशनल डे ऑफ सर्विस के मौके पर एक समारोह में शामिल हुई थीं, दोनों ने प्लास्टिक की थैलियों में खाना पैक किया जो लोगों में बांटा जाना था.

कमला ने कहा- “यहां अपनी सर्विस देने के लिए और मार्टिन लूथर किंग जूनियर को श्रद्धांजलि देने के लिए हम सब जुटे हैं.

नेशनल डे ऑफ सर्विस के मौके पर पूरे अमेरिका में हजारों लोगों ने वॉलेंटियर किया, इस मौके पर अमेरिकी लोग एकजुट होकर अपनी सेवाएं मुहैया करते हैं, देशभर में इस मौके पर कई समारोह का आयोजन किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here