लखनऊ यूपी : 2022 चुनाव से पहले BSP को तगड़ा झटका लगा है, कांग्रेस के भी बड़े नेता ने पार्टी का साथ छोड़ दिया है, मंगलवार को SP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दोनों पार्टियों के कई नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई, BSP के दिग्गज नेता व कोआर्डिनेटर अम्बेडकर नगर से पूर्व सांसद त्रिभुवन दत्त, हापुड़ की धौलाना सीट से मौजूदा BSP विधायक असलम चौधरी की पत्नी, हरदोई के शाहाबाद से BSP से विधायक रहे आसिफ़ उर्फ बब्बू खां ने भी SP ज्वाइन की, वहीं महराजगंज के जिला पंचयत अध्यक्ष प्रभु दयाल चौहान व कानपुर देहात के कैप्टन इंद्रपाल सिंह पाल भी अखिलेश की साइकिल पर सवार हो गए, अखिलेश यादव ने इसको लेकर प्रेस वार्ता की और BJP सरकार पर भी जमकर निशाना भी साधा.

पूर्व केंद्रीय मंत्री सलीम शेरवानी भी SP में शामिल हो गए हैं, 2019 में कांग्रेस के टिकट पर उन्होंने बदायूं से लोकसभा चुनाव लड़ा था, जिससे SP प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव के समीकरण भी बिगाड़ दिए थे और उन्हें यह सीट गंवानी पड़ गई थी, सलीम शेरवानी का UP की राजनीति में लंबा अनुभव रहा है, वो सांसद से लेकर केंद्र में मंत्री तक रहे हैं, अखिलेश यादव ने इस दौरान कोरोना के मुद्दे पर BJP सरकार को घेरा, उन्होंने कहा कि कोरोना से आज पूरी दुनिया लड़ रही है, लेकिन BJP सरकार का एक ही निर्णय है कि जितने कम टेस्ट होंगे उतनी कम बीमारी होगी, यदि ज्यादा टेस्ट होते हैं, तभी पता चलेगा कि आखिर कितने लोग बीमार हैं, आम जनता से लेकर, इन्हीं की सरकार के कैबिनेट मंत्री, अफसर व पत्रकार समेत बड़ी संख्या में लोगों की जान गई, लेकिन सरकार कह रही है कि अब हमें इस बीमारी के साथ ही जीना होगा, अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार की तैयारी क्या है?

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

अखिलेश यादव ने कहा नए नेताओं का पार्टी में स्वागत करते हुए कहा कि SP की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ा जाए, SP अध्यक्ष ने आगे कहा कि आने वाला वक्त बताएगा कि SP पार्टी कितना मेहनत कर रही है, उन्होंने कहा कि 2022 में यूपी होने वाले विधानसभा चुनाव न सिर्फ SP पार्टी की सत्ता में वापसी करवाएगा बल्कि देश की दिशा भी तय करेगा.

ब्यूरो रिपोर्ट, लखनऊ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here